Gandhi Research Foundation

Articles - फाउण्डेशन द्वारा मिट्टी परीक्षण - जनजागृति अभियान

कृषि को शाश्‍वत बनाने का जरिया है कि किसान को जागरूक बनाया जाये, नयी तकनिक के आधार पर वो अपने खेत को जाने| इस संदर्भ में २२ से २७ मई २०१७ के दौरान फाउण्डेशन और आर.सी.एफ (राष्ट्रीय केमिकल्स फर्टिलाईझर्स) के संयुक्ततत्त्वावधान में मिट्टी परीक्षण अभियान चलाया गया| खेत में जाकर मिट्टी का नमूना कैसे लेना है, उनके बारे में फाउण्डेशन के कार्यकर्ता ने किसानों को प्रत्यक्ष रुप से बताया| इस अभियान के दौरान आर. सी. एफ. की डेमो वान गॉंव गॉंव जाकर किसानों के खेत की मिट्टी का परीक्षण किया गया| मिट्टी की रासायनिक जांच करने से भूमि में उपलब्ध पोषक तत्वों की मात्रा के बारे में जानकारी मिलती है| इस परीक्षण के माध्यम से भूमि की उर्वरकता मापना तथा कौन कौन से तत्वों की कमी है, इनका पता लगा सकते है| मूल तौर पर भूमि में सोलह पोषक तत्व होते है| इनमें कार्बन, हाइड्रोजन, नाईट्रोजन, पोटाश जैसे मुख्य व सूक्ष्म तत्वों का समावेश होता है| इन सभी तत्वों का संतुलित मात्रा में प्रयोग करने से ही उपयुक्त मात्रा में पैदावार ली जा सकती है| साथ साथ इनमें पी.एच. मान को भी ध्यान में रखा जाता है| इन सभी जानकारी के आधार पर किसान अपने खेत और अपनी मिट्टी को नजदीक से जाने और पहचाने| ताकी, जो फसल हम बोने जा रहे हैं उसमें खादों की कितनी-कितनी मात्रा डालना आवश्यक होगा इसका सही-सही पता लगाया जा सके|

इस कार्यक्रम में जलगॉंव जिले के खड़के, खर्ची, रवंजा, नागदूली, धानोरा, दापोरा, दापोरी, रामदेववाडी, वावडदा, सुभाषवाडी, वडली, जलके, विटनेर, डोमगॉंव और म्हसावद इन गॉंवों के किसानों की भूमि से कुल ४५९ नमूनों का मिट्टी परीक्षण किया गया| इस कार्य को यशस्वी करने के लिए गॉंधी रिसर्च फाउण्डेशन और आस.सी.एफ के कार्यकर्ताओं ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की|

Back to Articles


Address
Gandhi Teerth, Jain Hills, PO Box 118,
Jalgaon - 425 001 (Maharashtra), India
 
Contact Info
+91 257 2260033, 2264801;
+91 257 2261133
© Gandhi Research Foundation Site enabled by : Jain Irrigation Systems Ltd