Gandhi Research Foundation

Articles - खादी जगत् की चुनौतियॉं पर संगोष्ठी संपन्न

‘खादी जगत् की चुनौतियॉं और गॉंधीजनों की जिम्मेदारी’ विषय पर गॉंधी तीर्थ, जलगॉंव में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया| इस दो दिवसीय संगोष्ठी में खादी असरकारक क्यों और कैसे हो, खादी में कौशल विकास, परिश्रम, पूनी संयंत्रों की उपलब्धता, खादी संस्थाओं के कर्ज एवं वित्त व्यवस्था, सरकार से सम्बन्धित खादी संस्थाओं की समस्यायें, खादी मार्क आदि विषय पर विस्तृत चर्चा हुई| वर्तमान खादी और ग्रामोद्योग आयोग द्वारा प्रामाणीकरण के अन्तर्गत १० लाख खादी कारीगरों और संस्थाओं के साथ-साथ खादी की समस्याओं और उन्हें व्यवस्थित करने के बारे में गहन विचार-विमर्श तथा चिन्तन मनन के बाद सर्व सम्मति से निम्न प्रस्ताव पारित किया गया -

१) विषयों की विभिन्नता, खादी जगत् के सामने समस्याओं के अम्बार, तथा इसके दूरगामी परिणामों और इससे जुडे ग्राम स्वावलम्बन तथा ग्राम स्वराज्य के विषयों को देखते हुए इस पर गहन चर्चा की आवश्यकता है| अतः सभा ने इसके लिये एक समिति का गठन किया जिसमें अशोक शरण, संयोजक खादी समिति, सर्व सेवा संघ; श्रीमती वासंती सोर, नाशिक; जयवंत मठकर, अध्यक्ष, सेवाग्राम आश्रम प्रतिष्ठान, वर्धा; करुणाकरणजी, सचिव, मगन संग्रहालय वर्धा तथा उदय महाजन, समन्वयक, गॉंधी रिसर्च फाउण्डेशन सदस्य होंगे| इन्हें और लोगों को जोड़ने की अनुमति होगी| यह समिति अपनी रिपोर्ट ३१ जनवरी २०१६ तक तैयार करेगी| समिति साथ खादी के कार्य पर चिन्तन करनेवाली प्रमुख संस्थाओं के साथ चर्चा कर अन्तिम नीतिगत विषयों का निर्णय करे| यह विषय निम्नानुसार होंगे-१) चरखे में सौर उर्जा का उपयोग, २) विकेन्द्रित पूनी सयंत्र, ३) सासंदीय पत्र ड्राफ्टिंग, तथा ४) पारिश्रमिक|

२) खादी ग्रोमोद्योग आयोग द्वारा खादी संस्थाओं को विभिन्न मुद्दों पर परेशान किया जा रहा है जिसमें खादी संस्थाओं से रिकवरी, ‘खादी मार्क’ रेग्युलेशन, ब्याज उपदान पात्रता प्रमाणपत्र, जबरन केंद्री पूनी सयन्त्रों से पूनी की खरीद, एम. डी. ए. का भुगतान आदि विषय शामिल हैं| अत सभा यह निर्णय लेती है कि खादी संस्थाओं की सम्पूर्ण कर्जमुक्ती हो, उनसे समस्त रिकवरी तत्काल स्थगित की जाए, बकाया एम.डी.ए. का तत्काल भुगतान हो तथा ‘खादी मार्क’ रेग्युलेशन को तत्काल प्रभाव से रद्द किया जाए|

३) खादी की समस्याओं पर एक पत्र उपर्युक्त समिति तैयार कर

सभी सांसदों, सम्बंधित मंत्रालय, प्रधान मंत्री, राष्ट्रपति को खादी समिति एवं खादी ग्रामोद्योग आंदोलन, तारा, पनवेल द्वारा भेजा जाएगा|

४) पूर्व में सर्व सेवा संघ द्वारा एक प्रस्ताव पास कर खादी ग्रामोद्योग आयोग/भारत सरकार से प्रामाणीकरण की व्यवस्था वापस मांगने का निर्णय लिया गया था| परंतु इसपर कार्यवाही नहीं हुई है| यह सभा सर्व सम्मति से निर्णय लेती है कि प्रमाणपत्र की व्यवस्था खादी और ग्रामोद्योग आयोग से वापस लेने के लिए पत्र लिखकर सक्रिय कार्यवाही आरंभ की जाए|

उक्त कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि के रूप में दक्षिण अफ्रीका से पधारी गॉंधीजी की प्रपौत्री एवं पूर्व संसद सदस्य श्रीमती इला गॉंधी, गॉंधी पीस फाउण्डेशन की अध्यक्षा राधाबेन भट्ट, गॉंधी रिसर्च फाउण्डेशन के संस्थापक डॉ. भवरलाल जैन, सेवाग्राम आश्रम के अध्यक्ष जयवंत मठकर, नई तालीम समिति, वर्धा के अध्यक्ष डॉ. सुगन बरंठ, खादी समिति के संयोजक अशोककुमार शरण, सर्व सेवा संघ के अध्यक्ष महादेव विद्रोही तथा विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि एवं रचनात्मक कार्यकर्ता उपस्थित रहे|

Back to Articles


Address
Gandhi Teerth, Jain Hills, PO Box 118,
Jalgaon - 425 001 (Maharashtra), India
 
Contact Info
+91 257 2260033, 2264801;
+91 257 2261133
© Gandhi Research Foundation Site enabled by : Jain Irrigation Systems Ltd